150+ Long Distance Relationship Quotes in Hindi | लंबी दूरी के रिश्तों पर विचार

Long Distance Relationship Quotes in Hindi: दोस्तों आज के इस लेख में हम लंबी दूरी के रिश्तों पर विचार आपके लिए लेके आए हैं। इस तरह की लंबी दूरी के रिश्तों पर विचार आपको और कही नहीं मिलेंगे। उम्मीद करते है की आपको हमारा लंबी दूरी के रिश्तों पर विचार पसंद आएगा।

Long Distance Relationship Quotes in Hindi

long distance relationship quotes in hindi

इस बात में कोई दोराय नहीं कि प्यार वाले रिश्‍तों की डोर,
बहुत ही नाजुक होती है छोटी-छोटी बातें,
कब रिश्ता टूटने का कारण बन जाए, पता ही नहीं चलता।

ये दिल कहता है पास तुम्हें बुलाऊं,
पास बुला कर, साथ तुम्हें बिठाऊं,
फिर हाथों में लेकर हाथ तुम्हारा,
मैं प्यार के नए गीत, नए तराने गाऊं।

यदि कोई रिश्ता समय की कसौटी पर खरा नहीं उतर सकता,
तो वह रिश्ता प्रेम की परीक्षा में भी खरा नहीं उतर सकता।

दूरी बहुत है शरीर में हमारे,
पर दिल के बीच एक इंच का भी फासला नहीं है।

दूरी का मतलब बहुत कम होता है,
जब कोई बहुत मायने रखता है।

कभी सुबह होती थी आपको देख कर,
आपको देख कर ही चांद निकलता,
अब आलम कुछ यूं हैं मेरे महबूब,
कि ये जुदाई का मौसम है हमें खलता।

न जाने किस तरह का इश्क निभा रहे हैं हम,
पास रह नहीं सकते फिर भी साथ निभा रह हैं हम।

माना की तुम दूर हो मुझसे,
पर ये दूरी तुम्हारे पास आने का मज़ा दोगुना कर देती हैं।

ये दिल दे रहा है ये सदा,
तू मेरे पास आ जरा,
देख आकर क्या है मेरा हाल,
जैसे बिन अंबर ये धरा।

यदि प्रेम समय की कसौटी पर खरा नहीं उतर सकता है,
तो यह प्रेम की परीक्षा में विफल रहा है।

सपने में तुम साथ होती हो मगर हकीकत में नहीं,
ये दिल तरसता है तुम्हारे बिना मगर रोता भी नहीं।

मुझे रोज़ सुबह के सूरज से जलन होती है,
जो आपको सबसे पहले देखता है,
या चाय का कप,
जो आपके सोए हुए होठों को चूमता है।

प्यार किसी के साथ रहने का नाम नहीं है,
प्यार तो किसी के बगैर ना रहे पाने का नाम है

रिश्ते इसलिए भी नहीं,
सुलझ पाते हैं क्योंकि,
लोग गैरों की बातों में आकर,
अपनो से उलझ जाते हैं।

दर्द दिलो के कम हो जाते,
मैं और तुम अगर हम हो जाते।

प्यार के लिए नज़दीक होना ज़रूरी नहीं है,
नज़दीकियां होना ज़रूरी है।

प्यार इंसान से करो उसकी आदत से नहीं,
रुठो उनकी बातों से मगर उनसे नहीं,
भूलो उनकी गलतियाँ पर उन्हें नहीं,
क्यों की रिश्तों से बढकर कुछ भी नहीं।

तुम पूछती हो न मुझे सोने जाने की इतनी जल्दी क्यों होती है,
तो सुनों क्यूंकि रोज़सपनों में मेरी तुम से मुलाक़ात होती है।

दिन ये कट जाते हैं लेकिन रातें चांद को देख कर हैं कटती,
बैंगलोर से दिल्ली तक की दूरी सात समंदर पार जैसी है लगती।

तेरे बारे में मैं इतना सोचता हूँ,
की तेरे सिवाय मैं कुछ और अब सोच ही नहीं पाता।

यह दिल कहता है तुझे देखो करीब से,
पर क्या करूं मेरे शौक है कुछ अजीब से।

दूर रहना आपका हमसे सहा नहीं जाता,
जुदा हो के आपसे हमसे रहा नहीं जाता,
अब तो वापस लौट आईये हमारे पास,
दिल का हाल अब किसी से कहा नहीं जाता।

कभी सुबह होती थी आपको देख कर,
आपको देख कर ही चांद निकलता,
अब आलम कुछ यूं हैं मेरे महबूब,
कि ये जुदाई का मौसम है हमें खलता।

दूरियों की वजह से थोड़ी देर लगती है,
मिलने में, पर ये दूरियां हमारा मिलान नहीं रोक सकती।

सुन के नाम वफ़ा का मैं हँसनें लग पड़ा,
बस इसी बात से वो नया आशिक़ मुझसे ख़फ़ा हो गया।

तू मुझसे दूर और मैं यहाँ पर मजबूर हूँ,
मुझे रब से शिक्खवा भी यही है और शिकायत भी यही है।

ना रही अब कोई जुस्तजू इस दिल में तेरे बिना ए मेरे सनम,
मेरी’ पहली आरज़ू भी तू और आखिरी भी बस तू ए मेरे सनम।

माना तुम दूर चले गए चलते-चलते,
पर इश्क़ के चलते हम कभी दूर नहीं हो,
सकते।दूरिया की वजह से थोड़ी देर लगती है,
मिलने में. पर ये दूरियां हमारा मिलान नहीं रोक सकती।

रिश्तों के बीच की,
सबसे खराब दूरी,
गलतफहमी है।

दिन ये कट जाते हैं लेकिन,
रातें चांद को देख कर हैं कटती,
बैंगलोर से दिल्ली तक की दूरी,
सात समंदर पार जैसी है लगती।

मुलाकात जरुरी है अगर रिश्ते निभाने हो,
वरना लगाकर भूल जाने से पौधे भी सुख जाते हैं।

दूर रहना आपका हमसे सहा नहीं जाता,
जुदा हो के आपसे हमसे रहा नहीं जाता,
अब तो वापस लौट आईये हमारे पास,
दिल का हाल अब किसी से कहा नहीं जाता।

सच्ची मोहब्बत के आगे ये दूरियां भी हार जाएंगी,
पतझड़ के मौसम के बाद, जीवन में फिर मिलने की बहार आएगी।

जब रिश्ते नये होता है,
तो लोग बातें करने का बहाना ढ़ुढ़ते है,
और जब वही रिश्ता पुराना हो जाता है,
तो लोग दूर होने का बहाना ढूढ़ते है।

हमारी सच्ची मोहब्बत के आगे ये दूरियां भी हार जायेगी,
इस पतझड़ के मौसम के बाद एक बार फिर बहार आयेगी।

ये दूरियां लेती हैं,
सबके प्यार का इम्तिहां,
उन्हें भी साबित करना पड़ा था,
जिन्होंने कर दी थी प्यार की इन्तेहां।

दूरियाँ है हमारे बीच लेकिन दिलों में हमारे प्यार है,
जीतेंगे हम ही एक दिन होगी इन फासलों की हार है।

मैं जब आंखें खोलता हूं तो तुम्हें देखता हूं,
और जब मैं आंखें बंद करता हूं तो तुम्हें देखना चाहता हूं,
तुम पास रहो या दूर हर वक्त तुम्हें महसूस करना चाहता हूं,
हर घड़ी हर पल हर लम्हा।

रिश्ता निभाना हर एक के बस की बात नहीं हैं खुद,
को दुःख देना पड़ता हैं किसी दुसरे की ख़ुशी के लिए।

काश मेरी एक ख्वाहिश पूरी हो मेरी इबादत के बगैर,
वो आकर मुझे अपने गले लगा ले मेरी इजाजत के बगैर।

प्यार के लिए नजदीक होना जरूरी नहीं है,
नजदीकियां होना जरूरी है।

खुश नसीब होते है बादल जो दूर रहकर भी जमीन पर बरसते है,
और एक बद्नसीब हम है जो एक ही दुनिया में रहकर मिलने को तरस्ते है

बहुत ख़ास है ये प्यार और तेरे प्यार का,
एहसास के लिए तेरा मेरे पास होना ज़रूरी नहीं।

आपके साथ बिताए गए कुछ घंटे,
आपके बिना बिताए हजार घंटों से बहुत अच्छे हैं।

सजा न दे मुझको, बे-क़सूर हूँ मैं,
थाम ले हाथ मेरा, ग़मों से चूर हूँ मैं,
तेरी दूरी ने कर दिया है पागल मुझको,
और लोग कहते हैं की नशे में “मगरूर” हूँ मैं।

एक दिन ज़रूर आएगा वो दिन भी,
जब ये दिन बीत जाएंगे और हमारा,
सारा “दिन” एक दूसरे की बाहों में बीतेगा।

यदि प्रेम समय की कसौटी पर खरा नहीं उतर सकता है,
तो यह प्रेम की परीक्षा में विफल रहा है।

सच्चे प्यार के बंधन किसी बहाने से कमजोर नहीं पड़ते

रहते थे पनाहों में जिनकी,
उनसे अब मीलों की दूरी है,
प्यार के रास्ते में हो गए यूं जुदा,
ये कैसी हमारी मजबूरी है।

रिश्ते कभी जिंदगी के साथ-साथ नहीं चलते,
रिश्ते एक बार बनते हैं,
फिर जिंदगी रिश्तों के साथ साथ चलती है।

बारिश का मौसम है,
तुम याद बहुत आती हो,
क्या वहां भी भीगी चुनरी ओढ़े,
तुम गीत प्रेम के गाती हो?

वो मुझसे दूर रहती है पर उसकी तस्वीर मेरी आँखों के,
मेरे दिल, के और मेरे सीने के नज़दीक रहती है।

यह कैसा सिलसिला है,
तेरे मेरे दरमियान फासले तोह बोहोत है,
मगर मोहब्बत कम् नहीं होती।

अपने प्यार को पाने के लिए आप कहीं,
तक भी जा सकते हैं, जिसकी कोई सीमा नहीं है।

तुम्हारी कमी को बस तुम दूर कर सकते हो,
और जब तक तुम दूर हो ये कमी कभी दूर नहीं हो सकती।

कोई टूटे तो उसे सजाना सीखो,
कोई रूठे तो उसे मनाना सीखो,
रिश्ते तो मिलते हैं मुक़द्दर से,
बस उन्हें ख़ूबसूरती से निभाना सीखो।

वो मुझसे दूर रहता है पर उसकी तस्वीर मेरी आंखों के,
मेरे दिल के और मेरे सीने के नजदीक रहती है।

इस बहती हुई हवा को ध्यान से सुनना,
तो आप अपने लिए मेरे प्यार को महसूस कर पाओगे।

कोई टूटे तो उसे सजाना सीखों,
कोई रूठे तो उसे मनाना सीखों,
रिश्ते तो मिलते हैं मुकद्दर से बस,
उन्हें खूबसूरती से निभाना सीखों।

अपने रिश्ते वो स्वंय संवार लेते हैं जो,
अपनों के लिए समय निकाल लेते हैं।

सख़्त हाथों से भी फिसल जाती हैं,
कभी नाजुक उंगलियां,
रिश्ते ‘ज़ोर’ से नहीं,
प्यार मोहब्बत” से पकड़े जाते हैं।

कहते है की रिश्ते में Sorry और Thanks,
नहीं होने चाहिए लेकिन हकीकत मे,
यह दो लफ्ज रिश्तों को बचाते है।

इन दूरियों की ना परवाह कीजिये,
दिल करे जब हमे पुकार लीजिये,
ज्यादा दूर नहीं हैं हम आपसे,
बस एक कॉल करके हमे बुला लीजिये।

कभी-कभी प्यार की कीमत लंबी दूरी की,
रिश्ते में ज्यादा देखने को मिलती है।

याद आती हो तुम, तो ये आंखें भर आती हैं,
दिन कट जाते हैं, ये रातें बहुत सताती हैं,
खुश किस्मत हूं कि साया हो तुम मेरा,
जैसे चांदनी, चांद का साथ निभाती है।

पता नहीं किस तरह का प्यार निभा रहे हैं हम,
साथ तो नहीं है फिर भी साथ निभा रहे हैं हम।

आपने वजूद पे इतना तो यकीन है,
मुझे की कोई दूर हो सकता है,
मुझसे पर भूल नहीं सकता।

वो मुझसे दूर रहती है पर उसकी तस्वीर मेरी आँखों के,
मेरे दिल, के और मेरे सीने के नज़दीक रहती है।

मेरे हाथों में तेरा हाथ इससे अच्छा कुछ भी नहीं होता,
और तुमसे दूर रहकर मुझे इस बात की बहुत कमी महसूस होती है।

तेरा मेरा रिश्ता जज़्बात से जुड़ा है,
ये वो संगम है जो बिन मुलाकात से जुड़ा है,
मिलना बिछड़ना नसीब की बात है,
ये वो बंधन है जो तेरी ख़ुशी,
और मेरी चाहत के अहसास से जुड़ा है।

उम्मीद करते है की, आपको यह हमारा लंबी दूरी के रिश्तों पर विचार आपको जरूर पसंद आया होगा। आप हमारा यह लेख अपने मित्रो के साथ साझा कर सकते है।

Leave a Comment