150+ Punyatithi Quotes in Hindi | पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश

Punyatithi Quotes in Hindi: दोस्तों आज के इस लेख में हमपुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश आपके लिए लेके आए हैं। इस तरह की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश आपको और कही नहीं मिलेंगे। उम्मीद करते है की आपको हमारा पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश पसंद आएगा।

Punyatithi Quotes

Punyatithi Quotes in Hindi

भले ही वो महान लोग इस दुनिया को अलविदा कह गए हों,
लेकिन उनके विचार आज भी करोड़ो युवाओं के जेहन में जिंदा हैं।

दुःखद समाचार प्राप्त हुआ,
इस दुःख भरे समय में,
ईश्वर आपको और आपके,
परिवार को शक्ति और साहस दे।

पिता जी भले ही आप हमारे बीच नहीं है,
पर आपकी यादें हमारे दिलो में हमेशा रहेगी,
कृपया मेरी और से श्रद्धांजलि स्वीकार करे, ओम शांति।

होनी को कौन टाल सकता हैं,
ईश्वर की इच्छा के सामने,
इंसान बेबस होता हैं,
आपकी माता जी की आत्मा को शन्ति मिले,
ईश्वर इस दुःख की घड़ी में आपको धैर्य और शक्ति दे।

आप हमसे बहुत दूर चले गए परन्तु आप सदैव हमारे दिल में,
रहेंगे आपका प्यार बहुत ही महान था।

यह संसार प्रकृति के नियमों के अधीन हैं,
और परिवर्तन एक नियम है,
शरीर तो मात्र एक साधन है,
इस दुःख की घडी में हम सब आपके साथ हैं।

जीवन शाश्वत होता है,
इस पर किसी का बस नहीं,
जो आया है उसे जाना होगा,
इस पर कोई शक नहीं,
हम इस दुख की घड़ी में आपके साथ हैं।

आपने एक पिता होने का फ़र्ज़ बहुत अच्छे से निभाया है,
मैं आपको बहुत याद करता हूँ पापा,
मैं आपको श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ, कृपया स्वीकार करे।

आज आपके निधन का एक साल पूरा हो चूका है,
लेकिन हम आपसे आज भी उतना ही प्यार करते है,
जितना हम आपसे पहले किया करते थे,
कृपया अपने चरणों में हमारा नमन स्वीकार करें।

भगवान आपको आपके नुकसान से निपटने की ताकत दे।

उनके निधन का समाचार एक अव्यक्त,
रिक्तता के वास्तविक आभास जैसा हैं,
ईश्वर पूज्य श्री को अपनी कृपाछाया,
में शांतिपूर्ण स्थान प्रदान करें।

उनके निधन से गहरा दुःख हुआ,
यह हम सभी के लिए एक अपूरणीय क्षति हैं,
ईश्वर दिवंगत आत्मा को शन्ति दे और,
परिजनों को संबल प्रदान करें।

मौत उस की है करे जिस का ज़माना अफ़्सोस,
यूँ तो दुनिया में सभी आए हैं मरने के लिए।

जीवन एक ”संयोग” मात्र है,
सुख और दुःख कर्मवार आते हैं,
ईश्वर आपको हिम्मत और,
दिवंगत आत्मा को शान्ति दें।

किसानों और गांवों की उन्नति के लिए काम करने वाले,
भारतीय नेता जी की पुण्यतिथि पर श्रद्धापूर्वक नमन।

दे दी हमें आज़ादी बिना खड्ग बिना ढाल,
साबरमती के सन्त तूने कर दिया कमाल।

मैं जानता हूँ कि अच्छे लोग कभी नहीं मरते,
आप हमारी यादो में हमेशा जिंदा रहेंगे पिता जी,
ईश्वर आपकी पवित्र आत्मा को शांति दे, ओम शांति।

सब कहाँ कुछ लाला-ओ-गुल में नुमायाँ हो गईं,
ख़ाक में क्या सूरतें होंगी कि पिन्हाँ हो गईं।

यह खबर हमें चौका गई,
आंखों में आंसू ला गई,
सोचा नहीं था इतनी जल्दी चले जाएंगे,
आप हमें बहुत जल्दी रूला गए।

समय जिंदगीका कम होगा कहा पता था,
विदाय आपकी अनपेक्षित होगी वो कहा पता था,
हर जगह खुशबू फैलाकर, स्मृति सबके दिलमें रख गए,
ईश्वर आपकी दिव्य आत्मा को शांति प्रदान करे वही प्रार्थना।

व्यक्ति का अच्छा काम उसे अमर बनाता है,
जिसे मृत्य भी नहीं मिटा पाती,
एक दिन तो सबको छोड़कर जाना है,
बस उनकी यादें ही संग हैं रहती।

पिता जी की पुण्यतिथि पर सादर नमन,
आपकी यादें हमारे दिलो में हमेशा बनी रहेगी,
हम ईश्वर से आपकी आत्मा की मुक्ति के लिए,
हर दिन प्रार्थना करते है, ओम शांति।

होनी को कौन टाल सकता हैं,
ईश्वर की इच्छा के सामने,
इंसान बेबस होता हैं,
आपकी माता जी की आत्मा को शन्ति मिले,
ईश्वर इस दुःख की घड़ी में आपको धैर्य और शक्ति दे।

हम दिल से करते हैं प्रार्थना,
माताजी की आत्मा को शांति मिले,
घर में सबको साहस मिले।

आप हमेशा दूर है किन्तु आप हमारे दिलों में रहते है,
आज ही के दिन आपने हम सबसे विदा ली थी,
ईश्वर आपकी दिव्य आत्मा शान्ति प्रदान करे।

फूलो जैसी ज़िंदगी वो शेर की तरह जीकर गया,
वादा किया था साथ निभाने का पर बीच मे ही साथ छोड़ दिया।

यह खबर सुनने के लिए वास्तव में चौंकाने वाली है,
मेरे आँसू रुक नहीं रहे हैं,
आपकी माताजी की आत्मा को शांति मिले,
हमारी प्रार्थनाएं आपके साथ हैं।

आप थे संतों के संत व ज्ञानियों के ज्ञानी,
आपकी बातें कभी हो सकती नहीं पुरानी,
पुण्य तिथि पर कोटि कोटि नमन आपको,
आप पर गर्व करता रहेगा हर हिंदुस्तानी,
आप थे संतों के संत।

एक साल पहले इसी दिन,
जब आपने इस दुनिया को अलविदा कहा था,
वह दिन मेरी ज़िंदगी का सबसे दुख भरा दिन रहा था,
प्रथम पुण्यतिथि पर आप को शत-शत नमन।

अच्छे लोगों को भगवान् सचमुच अपने पास ही रखना चाहते हैं,
ईश्वर दिवंगत आत्मा को ‘शांति’ और,
आपको धैर्य प्रदान करें,
हमारी संवेदनाएं आप सभी के साथ हैं,
सादर चरण स्पर्श।

कुछ इस तरह बिछड़ा की आंखों में आंसू आ गए,
आज उनकी पुण्यतिथि में फिर पुराने दिन याद आ गए।

हमें अकेले छोड़कर जाने वाला,
अब वापस लौट के नहीं आने वाला,
आज उनकी पुण्यतिथि आई है,
उन्हें याद करके आंख भर आई है।

मृत्यु सत्य है और शरीर नश्वर हैं,
यह जानते हुए भी अपनों के जाने का दुःख होता हैं,
हमें ईश्वर से प्रार्थना करनी चाहिए कि,
दिवंगत आत्मा को शांति और मोक्ष प्रदान करें।

समय जिंदगी का कम होगा कहा पता था,
विदाय आपकी ”अनपेक्षित” होगी वो कहा पता था,
हर जगह खुशबू फैलाकर, स्मृति सबके दिलमें रख गए।

बगीचे मे फूल तो सिर्फ कुछ दिनों के लिए खिलते है,
भगवान तो सिर्फ उन्हे अपने पास बुलाते है जो भगवान को सबसे प्यारे लगते है।

मृत्यु सत्य है और शरीर नश्वर हैं,
यह जानते हुए भी अपनों के जाने का दुःख होता हैं,
हमें ईश्वर से प्रार्थना करनी चाहिए कि,
दिवंगत आत्मा को शांति और मोक्ष प्रदान करें।

हम भाग्यशाली है जो हमे आप जैसे,
पिता को पाने का सुख मिला,
आज आप हमारे बीच नहीं है मगर,
आपके यादें हमारे दिलों में जिंदा रहेगी।

सौम्यता उनकी सुगंध थी, आनंद उनका जीवन था,
सत्कर्म उनकी शोभा और परोपकार उनका कर्तव्य था,
धर्म को कभी भूलें नहीं, ऐसी आपकी दिव्य आत्मा को,
ईश्वर शांति दे वही प्रार्थना।

भावपूर्ण श्रद्धांजलि संदेश,
जीवन एक संयोग मात्र है,
सुख और दुःख कर्मवार आते हैं,
ईश्वर आपको हिम्मत और,
दिवंगत आत्मा को शान्ति दें।

आपके ज्ञान पर दुनिया को अभिमान है,
आपकी बातें जग में बड़ों बड़ों ने मानी,
अमेरिका का भाषण कौन भूल सकता है,
आपने बड़े बड़े को पिला दिया था पानी,
आप थे संतों के संत।

छोड़कर अपनों को हर किसी को जाना है,
पर उनकी यादें हमेशा हमारे साथ रहेंगी,
वो हमेशा हमारे पास रहेंगे।

होनी को कौन टाल सकता हैं,
ईश्वर की इच्छा के सामने,
इंसान बेबस होता हैं,
आपकी माता जी की आत्मा को शन्ति मिले,
ईश्वर इस दुःख की घड़ी में आपको धैर्य और शक्ति दे।

दादी की लोरियां बहुत याद आती है मुझे,
दादी आपकी कमी बहुत सताती है मुझे,
जब से छोड़ गए हो आप साथ मेरा,
आपकी यादें अक्सर रुलाती है मुझे,
आज आप की पुण्यतिथि पर आप को शत-शत नमन।

हमारे दादा जी बहुत ही अच्छे इंसान और,
दुनिया के सबसे बेस्ट दादा जी रहे,
हम उन्हें हमेशा याद करते है और,
भगवन जी से उनकी मुक्ति की कामना करते है।

आपके माता/पिता की मृत्यु का दुखद समाचार सुनकर हम बहुत दुखी हैं,
ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे, और आपको इस कठिन समय से गुजरने की ताकत दे।

कर्म योग, ज्ञान योग व भक्ति योग में,
उनकी पकड़ देख, सबको हुई थी हैरानी,
ऐसे संत की शुरुआत क्या व अंत क्या?
जो दूजे के काम आए, वही है जिंदगानी,
आप थे संतों के संत।

होनी को कौन टाल सकता हैं,
ईश्वर की इच्छा के सामने,
इंसान बेबस होता हैं,
आपकी माता जी की आत्मा को शन्ति मिले,
ईश्वर इस दुःख की घड़ी में आपको धैर्य और शक्ति दे।

इन्सान कितनी भी तरक्की कर ले,
मगर होनी को कोई नहीं टाल सकता,
पुण्यात्मा की पुण्यतिथि पर शत-शत नमन।

जीवन की एक सीमा होती है,
जब यह सीमा खत्म होती है,
तब हर किसी को जाना होता है,
इस दुख की घड़ी में हम आपके साथ हैं।

आपके दिखाए गए रास्तों पर चल रहा हूं,
आपके सुभाशिर्वाद के सहारे पल रहा हूं,
कौन कहता है आप हमसे दूर चले गए हो,
आप हरदम मेरे साथ हो तभी तो मैं फल फूल रहा है,
आपकी दिव्य आत्मा को प्रथम पुण्यतिथि पर शत-शत नमन।

यह संसार ”प्रकृति” के नियमों के अधीन हैं,
और परिवर्तन एक नियम है,
शरीर तो मात्र एक साधन है,
इस दुःख की घडी में हम सब आपके साथ हैं।

आपके अचानक चले जाने से हम वास्तव में बहुत दुखी हैं,
भगवान आपकी ओर से हमारी प्रार्थना स्वीकार करे।

आपकी की अवसान पर आपको और आपके परिवार को,
हमारी संवेदना हमारी प्रार्थना आपको इस कठिन समय से,
बाहर निकालने में मदद करेगी।

यह खबर सुनने के लिए वास्तव में चौंकाने वाली है,
मेरे आँसू रुक नहीं रहे हैं,
आपकी माताजी की आत्मा को शांति मिले,
हमारी प्रार्थनाएं आपके साथ हैं।

वो शख्स जमाने से उठ गया,
वो लगता है अपनों से रूठ गया,
अब वो किसी से बात नहीं कर रहा,
क्यों वो ऐसे छोड़कर चला गया।

जैसे तुम छोड़कर गए,
वैसे कोई जाता नहीं है,
जितना तुम याद आते हो,
उतना कोई याद आता नहीं।

आपके निधन का एक साल बीत चुका है,
और मैं अब भी जितना कह सकता हूँ,
उससे ज्यादा आपको याद करता हूँ,
ईश्वर आपको आत्मा को मुक्ति प्रदान करें।

कुछ अन्य हिंदी कोट्स:

  1. Suprabhat Suvichar
  2. Suvichar in Hindi
  3. Education Quotes in Hindi
  4. Sacchi Baaten
  5. Chai Quotes in Hindi

उम्मीद करते है की, आपको यह हमारा पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि संदेश आपको जरूर पसंद आया होगा। आप हमारा यह लेख अपने मित्रो के साथ साझा कर सकते है।

Leave a Comment