Hurt Quotes in Hindi | हार्ट कोट्स इन हिंदी

Hurt Quotes in Hindi: दोस्तों आज के इस लेख में हम हार्ट कोट्स आपके लिए लेके आए हैं। इस तरह की हार्ट कोट्स आपको और कही नहीं मिलेंगे। उम्मीद करते है की आपको हमारा हार्ट कोट्स पसंद आएगा।

Hurt Quotes in Hindi

hurt quotes in hindi

क्या खूब मजबूरियां थी मेरी भी,
उस वक़्त अपनी,
ख़ुशी को छोड़ दिया,
उसे खुश देखने के लिए।

उसने कहा था आँख भरके देखा करो,
अब आँख भर आती हैं पर वो नज़र नहीं आती।

चाहत वो नहीं जो जान देती है, चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है,
ऐ दोस्त चाहत तो वो है जो,पानी में गिरा आँसू पहचान लेती है।

सुना है उस को मोहब्बत दुआएँ देती है,
जो दिल पे चोट तो खाए मगर गिला न करे।

अपने आपको इतना मजबूत बनाओ की,
आपको कोई Hurt ही न कर पाए”।

काश एक बार आवाज तो दि होती हमे,
हम तो वहां से भी लोट आते, जहां से कोई नहीं आता।

तुम लौट के आने का तकल्लुफ मत करना,
हम एक मोहब्बत को दो बार नहीं करते।

तुम बहुत सुन्दर हो बेशक मैं तुम्हारे आस पास भी नहीं,
मुझे गर्व है मेरे साफ दिल पे, जो तुम्हारे पास भी नहीं।

इश्क के चर्चे भले ही सारी दुनिया में होते होंगे,
पर दिल तो अक्सर खामोशी से ही टूटते है।

जिससे हम सबसे ज़्यादा मोहब्बत करते हैं ना,
उसमे सबसे ज्यादा ताकत होती है दिल तोड़कर रुलाने की।

एक वक्त था,
जब पूरी पूरी रात बात करते थे,
आज एक दूसरे को,
Online देखकर भी चुप बैठे है।

तरसेगा जब दिल तुम्हारा, मेरी मुलाकात को,
ख्वाबों मे होंगे तुम्हारे हम, उसी रात को।

कोई भी मेरी अनुमति के बिना मुझे चोट नहीं पहुचा सकता।”

मोहब्बत की दुनिया में चुप रहना ही बेहतर है,
जमाने के हिसाब से धोखा खा जाते है, अक्सर ज्यादा बोलने वाले।

दिन ना लगाए उसने ये दिन दिखाने में,
ज़रा भी नहीं तरस खाया उसने दिल दुखाने में।

उसने कहा था आँख भरके देखा करो,
अब आँख भर आती हैं पर वो नज़र नहीं आती।

किसी का दिल तोड़ने में वक़्त नहीं लगता,
मगर उस टूटे हुए दिल को जोड़ने में पूरी उम्र बीत जाती है।

हमारे महफिल में लोग बिन बुलाये आते है,
यहाँ स्वागत में फूल नहीं दिल बिछाये जाते है।

हर्फ़-हर्फ़ इस कदर था तल्खियों से भरा,
आखिरी ख़त तेरा दीमक से भी खाया ना गया।

क्या मिला तुजे मेरा ना होकर,
तु रह भी नहीं पायेगा पूरा किसी और का होकर।

मैं उसके चेहरे को दिल से उतार देता हूँ,
कभी-कभी तो मैं खुद को भी मार देता हूँ।

समेट कर ले जाओ अपने झूठे वादों के अधूरे किस्से,
अगली मोहब्बत में तुम्हे फिर इनकी जरुरत पड़ेगी।

हुनर जो दुनिया से सीखा है वही आजमा रहा हूं,
कल वो भाव खा रहे थे आज मैं खा रहा हूं।

नहीं चाहिए तुम्हारे झूठे वादों के ये किस्से,
रखो, फिर किसी को धोखा देने के काम आएंगे।

हुस्न वाले जब तोड़ते हैं दिल किसी का,
बड़ी मासूमियत से कहते हैं मजबूर थे हम।

जहां याद न आये तेरी वो तन्हाई किस काम की,
बिगड़े रिश्ते न बने वो खुदाई किस काम की,
बेशक अपनी मंजिल तक जाना है हमें,
लेकिन जहां से अपने न दिखें,
वो ऊंचाई किस काम की।

या तो बाहर निकलो डर से,
या बाहर ही ना निकलो घर से।

तेरी दुनिया का यह दस्तूर भी अजीब है ए खुदा,
मोहब्बत उनको मिलती है, जिन्हें करनी नहीं आती।

छोड़ दूँगा जब इस झूठी दुनिया को मैं,
तो अपने आप ही प्यार समय सिखा देगा तुम्हे।

क्या मिला तुजे मेरा ना होकर,
तु रह भी नहीं पायेगा पूरा किसी और का होकर।

हर एक के नसीब में कहाँ लिखी है चाहतें,
कुछ लोग आते है दुनिया में तन्हाइयों के लिए।

रख लू नज़र में चेहरा तेरा, दिन रात ईस पे मैं मरता रहू,
जब तक ये साँसे चलती रहे, मैं तुझसे मोहब्बत करता रहू।

अब तो आदत बन चुकी है,
तुम दर्द दो और हम मुस्कुराएंगे।

थोड़ा तो तमीज़ से पेश आ ऐ जिंदगी,
मेहमानों से ऐसा बर्ताव कौन करता हैं ?

चले जाएगे चुप-चाप एक दिन तेरी दुनिया से,
प्यार की कदर करना किसे कहते है..? ये तुजे वक़्त सीखा देगा।

रात होगी तो चाँद दिखाई देगा,
ख्वाबों मे वो चेहरा दिखाई देगा,
ये किसी का प्यार भरा गुड नाईट SMS है,
जवाब नही दिया तो सपने मे भूत दिखाई देगा।

अपने रिश्तों को उस ताले की तरह बनाओ,
जिसे हथोड़े की चोट तो मंजूर हो मगर किसी,
दूसरी चाबी से खुलना मंजूर नहीं।

ज़िन्दगी सिर्फ मोहब्बत नहीं कुछ और भी है,
जुल्फों-रुखसार की जन्नत नहीं कुछ और भी है,
भूख और प्यास की मारी हुई इस दुनिया में,
इश्क ही एक हकीकत नहीं कुछ और भी है।

क्या मिला तुजे मेरा ना होकर,
हर्फ़-हर्फ़ इस कदर था तल्खियों से भरा,
आखिरी ख़त तेरा दीमक से भी खाया ना गया।

वो बोलते रहे हम सुनते रहे,
जवाब आँखों में था वो जुबान में ढूंढते रहे।

ये इश्क़ बनाने वाले की मैं तारीफ करता हूँ,
मौत भी हो जाती है और क़ातिल भी पकड़ा नही जाता।

बहुत देर करदी तुमने मेरी,
धडकनें महसूस करने में,
वो दिल नीलाम हो गया, जिस,
पर कभी हकुमत तुम्हारी थी।

तु रह भी नहीं पायेगा पूरा किसी और का होकर।

चेहरे बदल जाए तो कोई तकलीफ नहीं,
अगर लेहज़े बदल जाए तो बहुत तकलीफ होती है।

जो हुआ है मेरे साथ में,
वही लिखता हूं कलम लेकर अपने हाथ में।

ज़रा सी वक़्त ने करवट क्या ली,
गैरों की लाइन में सबसे आगे अपनों को पाया हमने।

मैं उसके चेहरे को दिल से उतार देता हूँ,
कभी-कभी तो मैं खुद को भी मार देता हूँ।

वो बोलते रहे हम सुनते रहे,
जवाब आँखों में था वो जुबान में ढूंढते रहे।

यही सोचकर सफाई नहीं दी हमने,
इल्ज़ाम भले ही झूठे हैं पर लगाए तो तुमने हैं।

सफ़र छोटा ही सही मगर यादगार होना चाहिए,
और रंग काला ही सही मगर वफादार होना चाहिए।

मैं लिखूंगा अल्फाज अब से इतने गहरे,
कि वो अपना दिल लगाएंगे और कहेंगे अब से आप यहां पे ठहरे।

इतनी मेहरबानी मेरे ईश्‍वर बनाये रखना,
जो रास्‍ता सही है उसी पर चलाये रखना,
ना दुखे दिल किसी का मेरे शब्‍दों से,
इतनी कृपा मेरे ऊपर बनाये रखना।

तरस गए हैं तेरे Muh से कुछ सुनने को हम,
Pyaar की बात न सही कोई शिकायत ही कर दे।

अरे! मुझे मत बताइए,
ठोकर का मतलब साहब,
मैं एक अरसे तक,
पत्थर रहा हूँ।

तहज़ीब में भी उसकी क्या ख़ूब अदा थी,
नमक भी अदा किया तो ज़ख्मों पर छिड़क कर।

भीगी ज़ुल्फ़ से वो भीगा एहसास है,
गर्दन को चूमते हुए तेरी पीठ पे बिखरा है,
भिगो के तेरे अँग और लिबास को,
मेरे ही ईमान में शरारत को घोला है।

तेरे सामने अपना दर्द रखने से,
बेहतर तो दिल का दर्द दिल में ही रखना है।

भाई बोला यार आवाज आ रही है ऐसी जैसी रो रही कोई बिल्ली है,
मैंने कहा भाई तेरी वाली होगी मेरी वाली तो अभी दिल्ली है।

दिल के जख्मों को दिखाऊंगा नहीं,
दर्द तू चाहे जितना दे किसी को बताऊंगा नहीं।

मोहब्बत की आज भी तारीफ़ करता हूँ,
किसी के दिल में रहकर, हजारों दर्द सहकर।

किसी का दिल दुखाना समुद्र में फेंके गए पत्थर के समान है,
वो पत्थर अंदर कितना गहरा जायेगा इसका अंदाजा लगाना मुश्किल होता है।

वो देखे बिना यूं मुंह फेर कर निकल गए,
जैसे मुझे पहचानते ही नहीं, मेरे दिल को मिले हैं लाखों जख्म,
पर कमबख्त उन्हें बेवफा मानता ही नहीं।

टूटा है दिल उनके प्यार में,
अब फिर कभी जुड़ न सकेगा,
वो भले ही किसी और के हो जाएं,
ये फिर किसी और का हो न सकेगा।

मेरी चाहत को मेरी हालत की तराजू में ना तोल,
मैंने वो ज़ख्म भी खाये जो मेरी किस्मत में नहीं थे।

दोबारा इश्क़ हुआ तब भी तुझ ही से होगा,
खफा हूं मैं बेवफा नहीं।

फर्क सिर्फ इतना था कि उसे गैरों के,
पीछे भागना था,
और मुझे सिर्फ उसके पीछे।

हटा दूँ लिबास या चूम लूँ उस बूँद को,
या चूम कर तुम्हे, जला दूँ उस बूँद को,
बगावत की राह पे वो क़ाफ़िर,
बड़ी बेशर्मी से तेरी कमर की ओर पिघला है।

यह मोहब्बत बड़ी कमाल की चीज होती है,
मिल जाए तो मजा है बिछड़ जाए तो सजा है।

हमारे ज़खमों की दवा भी वो हैं वो नमक ज़खम,
पे लगाऐं भी तो क्या हुआ.. महोब्बत करने की वजह भी तो वो हैं।

एहसान किसी का वो रखते नहीं मेरा भी चुका दिया,
जितना खाया था नमक मेरा मेरे जख्मों पे लगा दिया।

हर एक ने देखा मुझे अपनी नज़रों से,
काश कोई तो मेरी नज़र से भी देखता मुझको।

तुम लौट के आने का तकल्लुफ मत करना,
हम एक मोहब्बत को दो बार नहीं करते।

अपनी हरकतों को आज तुम ठहर जाने दो,
इस नशेमन को आज, वहीँ सवँर जाने दो,
करीब आकर गुनाहों के बहाने,
उस कतरे में आज मैंने रुमानियत को घोला है।

आज मैं तुम पर,
आखरी बार लिखूंगा,
और खुदा कसम तुझे,
बेवफाओं में शुमार कर दूंगा।

तुझे सभी में सब दिखता है,
बस मेरी मोहोब्बत नहीं दिखती ये देख कर दिल दुखता है।

नए ज़ख्म के लिए तैयार हो जा ऐ दिल,
कुछ लोग प्यार से पेश आ रहे हैं।

हमेशा ही देखना चाहता हूँ मैं ख़ुशी लोगों की,
पर शायद मेरे दर्द से ही ख़ुशी मिलती है किसी को।

अलग होने पर हमें Hurt क्यों होता है?
क्योंकि जिससे हम प्यार करते हैं,
उसके साथ हमारी आत्मा भी जुड़ी होती हैं।

दिल किसी से तब ही लगाना जब दिलों को पढ़ना सीख लो,
वरना हर एक चेहरे की फितरत में ईमानदारी नहीं होती।

क्या खूब मजबूरियां थी मेरी भी,
अपनी ख़ुशी को छोड़ दिया,
उसे खुश देखने के लिए।

उम्मीद करते है की, आपको यह हमारा हार्ट कोट्स आपको जरूर पसंद आया होगा। आप हमारा यह लेख अपने मित्रो के साथ साझा कर सकते है।

Leave a Comment