Satya Vachan | अनमोल सत्य वचन

Satya Vachan: दोस्तों आज के इस लेख में हम अनमोल सत्य वचन आपके लिए लेके आए हैं। इस तरह की अनमोल सत्य वचन आपको और कही नहीं मिलेंगे। उम्मीद करते है की आपको हमारा अनमोल सत्य वचन पसंद आएगा।

Satya Vachan

दुसरो पर अपनी गलतियों का दोष देना ही,
सबसे बड़ी कमजोरी है जो आगे बढ़ने से रोकती है।

satya vachan

अच्छे व्यवहार का कोई आर्थिक मूल्य भले ही ना हो,
लेकिन अच्छा व्यवहार करोड़ों दिलों को खरीदने कि शक्ति रखता है।

उस मनुष्य की ताकत का कोई मुकाबला नही,
कर सकता जिसके पास सब्र की ताकत है।

क्रोध और आंधी समान है शांत होने के बाद,
ही पता चलता है कि कितना नुकसान हुआ।

मिली थी जिंदगी,
किसी के काम आने के लिए,
पर वक़्त बीत रहा है,
कागज़ के टुकड़े कमाने के लिए।

गरीब व्यक्ति अमीर दिखने के चक्कर मे,
और ज्यादा गरीब हो जाता हैं।

उस इंसान से कभी झूठ मत बोलिये,
जिसे आपके झूठ पर विश्वास हो।

डिग्रियां तो आपके पढ़ाई के खर्चे की रसीदें हैं,
ज्ञान वही है जो आपके किरदार में झलकता है।

कडवी बातें बोलने का साहस,
बहुत लोगों को होता हैं मगर,
कड़वी बातें सुनने का साहस,
बहुत कम लोगों को होता हैं।

रिश्तों को बनाये रखने की सिर्फ एक ही शर्त है,
किसी की कमियां नहीं, अच्छाइयां देखें।

इंसान कपडे बदलता है घर बदलता है दोस्त बदलता है,
फिर भी परेशान क्यो रहता है?
क्यो की इंसान सबकुछ बदलता है,
मगर खुद को नही बदलता।

ना रुकना है और ना ही थकना है,
बस सुबह उठकर काम पर लगना है।

अपने नशे को मार दीजिये,
उससे पहले की वो आपको मार डाले।

जो दर्द आज सह रहे हो,
आगे चलकर वही तुम्हारी ताकत बनेगा।

भीड़ में सभी लोग अच्छे नहीं होते,
और अच्छे लोगों की,
कभी भीड़ नहीं होती।

ताश का जोकर और अपनों की ठोकर,
अक्सर बाजी घुमा देते है।

कभी भी किसी की कीमत कम मत समझो,
समंदर चाहें किसी को भी डुबोने की ताक़त रखता हो,
परन्तु तेल की एक बूंद को भी वो डुबो नहीं सकता।

जितना बड़ा संघर्ष होगा,
जीत उतनी ही शानदार होगी।

मुसीबत में अगर मदद मांगना हो तो सोच समझ कर मांगना,
क्योंकि मुसीबत थोड़ी देर के लिए होती है,
और एहसान ज़िंदगी भर का।

समय के पास इतना समय नहीं कि आपको,
दोबारा समय दे सकें।

सपने वो नहीं जो आप सोते हुए देखते है,
सपने तो वो है जो आपको सोने नहीं देते।

लक्ष्य पर आधे रास्ते पर जाकर कभी वापस न लोटे,
क्योंकि वापस लौटने पर भी आधा रास्ता पार करना पड़ेगा।

जैसे जैसे उम्र गुज़रती हैं,
एहसास होने लगता हैं,
माँ बाप हर चीज़ के बारे में सही कहते थे।

किसी पेड़ के कटने का किस्सा ना होता,
अगर कुल्हाड़ी के पीछे लकड़ी का हिस्सा ना होता।

माचिस की तीली दूसरे को जलाने से पहले स्वयं जलती है,
इसी प्रकार हमारा गुस्सा भी माचिस की एक तीली की तरह है,
जो दूसरों को बर्बाद करने से पहले स्वयं को बर्बाद करता है।

न्यायाधीश गलत हो सकता है,
लेकिन द्वारिकाधीश नहीं,
इसलिए हमेशा सत्कर्म करें।

जब मेहनत करने के बाद भी सपने पूरे नही होते,
तो रास्ते बदलिए सिद्धान्त नही क्योंकि पेड भी,
हमेशा पत्ते बदलता है जड़ नही।

गुस्सा एक ऐसा हथियार है जो,
आप का होते भी आप पर वार करता है।

जब लोग आपसे आपके काम के बारे में पूछते है,
तो दरअसल वो हिसाब लगाते है,
कि आपको कितनी इज्जत देनी है।

दुनिया में हर कोई पढ़ रहा है लेकिन,
सुनने वालों की संख्या ज्यादा और,
बोलने वालों की कम होती है।

भरोसा जितना कीमती होता हैं,
धोखा उतना ही महंगा हो जाता हैं।

मुसीबत में अगर मदद मांगना तो सोच कर मांगना क्योंकी,
मुसीबत थोड़ी देर के लिए होती है और अहसान ज़िंदगी भर का।

किसी का कर्जदार बनने से कहीं अच्छा है,
कठिनाइयों को गले लगाना।

आत्म सम्मान के साथ समझौता,
करके कुछ पाने से कहीं अच्छा है,
खाली हाथ रहना।

एक अच्छा काम करने से लोग आपकी तारीफ नहीं करेंगे,
लेकिन एक बुरा काम करने के बाद,
एक दिन में हीं आप बदनाम हो जायेंगे।

माँ से ज्यादा सच्चा प्यार,
कोई और नहीं करता है।

गरीब व्यक्ति का कोई मित्र,
या रिश्तेदार नहीं होता है।

याद रखें, अर्जुन की वह बात,
जब उसने कहा कि मुझे कुछ नहीं,
केवल चिड़िया की आँख दिख रही है।

कभी फुरसत में अपनी कमियों पर गौर करना,
दूसरों का आईना बनने की ख्वाहिश मिट जायेगी।

धोखे और फरेब को इंसान माफ जरूर कर सकता है,
लेकिन भूल नहीं सकता।

तजुर्बे उम्र से नहीं,
बल्कि हालातों से होते हैं।

अनुभव केवल नाम है,
जो आदमी ने अपनी ग़लतियों को दिया है।

जो हुआ अच्छा हुआ,
जो हो रहा है अच्छा हो रहा है,
जो होगा वो भी अच्छा ही होगा।

ताश का जोकर और अपनों की ठोकर,
अक्सर बाजी घुमा देते है।

जहाँ दुसरो को समझना मुश्किल हो जाए,
वहाँ खुद को समझना ज्यादा बेहतर होता है।

बिना मेहनत के कुछ नहीं मिलता,
दोस्तों कुदरत चिड़िया को खाना जरूर देता है,
लेकिन घोसले में नहीं।

जिस दिन आपने अपनी सोच बड़ी कर ली साहब,
बड़े बड़े लोग आपके बारे में सोचना शुरू कर देंगे।

जीवन को गमले के पौधे की तरह नहीं बनाना चाहिए,
जो थोड़ी सी धूप लगते ही मुरझा जाए,
जिंदगी को जंगल के पेड़ की तरह बनाओ,
जो हर स्थिति में झूमता रहे।

अगर आप सिर्फ खुद की ही,
से सीखते हैं तो,
आपको अपनी मंजिल तक पहुँचने में,
गलतियों ज्यादा समय, ज्यादा मेहनत और,
ज्यादा संघर्ष करना पड़ेगा।

दो बातों की गिनती करना छोड़ दे,
खुद का दुःख और दूसरों का सुख,
जिंदगी आसान हो जाएगी।

लोग चाहते हैं कि आप बेहतर करें,
लेकिन ये भी सत्य है कि,
वो कभी नहीं चाहते कि आप उनसे बेहतर करें।

संयम हमारे चरित्र की कीमत बढाता है,
परंतू मित्र और परिवार हमारे जीवन की कीमत बढाते हैं।

बड़प्पन वह गुण है, जो पद से नहीं,
बल्कि संस्कारों से प्राप्त होता है,
परायों को अपना बनाना उतना मुश्किल नहीं जिताना,
अपनों को अपना बनाए रखना।

अकेले चलने वाले लोग घमंडी नहीं होते,
वह दरअसल हर काम में अकेले ही काफी होते हैं।

परेशानी से जो अनुभव और सीख मिलती है,
वो सीख दुनिया का कोई भी स्कूल नहीं दे सकता है।

सफलता प्राप्त करने के लिए,
तैयारी की कमी को अपनी बाधा मत बनाओ।

जिन लोगों का भाग्य उनका साथ,
नहीं देता उनके दोस्त भी नहीं होते।

धोखे और फरेब को इंसान,
माफ तो कर सकता है लेकिन,
उसे जिंदगी भर भूल नहीं सकता।

यदि मनुष्य कुछ सीखना चाहे,
तो उसकी प्रत्येक भूल कुछ न कुछ सीखा देती है।

जिंदगी में सफल होना चाहते हो तो,
दुनिया की बातों को दिल से लगाना छोड़ दो।

यदि परिस्थितियों पर आपकी मजबूत पकड़ है,
तो जहर उगलने वाला भी आपका कुछ नही बिगाड़ सकता।

विजेता बोलते हैं कि मुझे कुछ करना चाहिए,
जबकि हारने वाले बोलते हैं कि कुछ होना चाहिए।

क्रोध हमेशा मनुष्य को तब आता है,
जब वह अपने आप को कमज़ोर और हारा हुआ पाता है।

धन हीन को अच्छा वक्त आने की उम्मीद सदैव रहती है,
किंतु अमीरों को बुरा वक्त आने का खौफ।

दुःख भोगने से सुख के,
मूल्य का ज्ञान होता है।

दुनिया में बहुत ही कम लोग ऐसे है,
जो सत्य के साथ हमेशा टिके रहते है।

जहां एक निराशावादी व्यक्ति,
किसी भी कार्य में उसका दुष्परिणाम ढूंढ लेता है,
वहीं लगनशील और आशावादी व्यक्ति,
हर एक कठिन कार्य में भी एक अवसर ढूंढ लेता है।

जैसे हम सोचते हैं,
अनुभव करते हैं। वैसे हम होते हैं।

सब लोग बोलते है कि पैसा रखो मुश्किल समय में काम आएगा,
लेकिन बुजुर्ग लोग कहते है कि,
ईश्वर पर विश्वास रखो मुश्किल समय ही नही आएगा।

किताबों की एहमियत,
अपनी जगह है जनाब,
सबको वही याद रहता है,
जो वक्त और लोग सिखाते है।

शस्त्र केवल शरीर को घायल कर सकतें है,
किन्तु शब्द आत्मा को भी घायल कर देतें है,
कोशिश करें अच्छा बोलें अच्छा सुनें,
अच्छा व्यवहार करें।

जिंदगी की सबसे बड़ी गलती वही होती है,
जिस गलती से हम कुछ सीख नहीं पाते।

गांव में नीम के पेड़ कम हो रहे हैं घरों में कड़वाहट बढ़ती जा रही है,
जुबान में मिठास कम हो रही है शरीर में शुगर बढ़ती जा रही है।

शस्त्र केवल शरीर को घायल कर सकतें है,
किन्तु शब्द आत्मा को भी घायल कर देतें है,
कोशिश करें अच्छा बोलें अच्छा सुनें,
अच्छा व्यवहार करें।

ऐसे लोगों से दूर रहें जो आपके मुँह में तो मीठी-मीठी बातें करते हैं,
लेकिन आपके पीठ पीछे आपको बर्बाद करने की योजना बनाते हैं।

ज़िन्दगी में मनुष्य के आँखे बन्द करने से,
कभी मुसीबत नही टला करती है,
बल्कि उस मुसीबत का सामना करने से,
मनुष्य की आँखे खुला करती हैं।

सीढियाँ उन्हें मुबारक हो जिन्हें सिर्फ छत तक जाना है,
मेरी मंज़िल तो आसमान है रास्ता मुझे खुद बनाना है।

कर दिया है बेफिक्र तूने फ़िक्र अब मैं कैसे करूँ,
फ़िक्र तो यह है कि तेरा शुक्र कैसे करूँ।

अक्सर वो लोग बदल जाते है,
वक्त आने पर,जिन्हे हम जीवन में सबसे जादा वक्त देते है।

इंसान खुद की नजर में सही होना चाहिए,
दुनिया तो भगवान से भी दुखी है।

मिली थी जिंदगी किसी के काम आने के लिए पर,
वक़्त बीत रहा है कागज़ के टुकड़े कमाने के लिए।

सब्र की ताकत को अनदेखा न कर,
सुना है सब्र रखने वालों को जीत निश्चित ही मिलती है।

जिंदगी में हमेशा ऐसे लोगों को पसंद करो,
जिनका दिल चेहरे से ज्यादा खूबसूरत हो।

किसी का सरल स्वभाव उसकी कमजोरी नहीं होती,
बल्कि उसके माता-पिता के द्वारा दिए हुए संस्कार होते हैं।

जिसके पास उम्मीद है,
वह हार कर भी नहीं हारता अज्ञात।

अगर हम विकट परिस्थिति से,
गुजर रहे होते हैं और प्रभु को मौन पाते हैं,
तो हमें याद रखना चाहिए कि परीक्षा के दौरान शिक्षक सदैव मौन रहता है।

उम्मीद करते है की, आपको यह हमारा अनमोल सत्य वचन आपको जरूर पसंद आया होगा। आप हमारा यह लेख अपने मित्रो के साथ साझा कर सकते है।

Leave a Comment