Mood Off Quotes in Hindi | मूड ऑफ स्टेटस इन हिंदी

मूड ऑफ कोट्स इन हिंदी एक वेबसाइट है जहां आप अपने मूड के लिए उद्धरण प्राप्त कर सकते हैं। यह अंग्रेजी और हिंदी दोनों में उद्धरण प्रदान करता है, जो उन लोगों के लिए मददगार है।

Mood Off Quotes in Hindi

mood off quotes in hindi

न जाने हर बार ऐसा ही क्यों होता है,
जो सबको ख़ुशी देता है आखिर में वही रोता है।

संघर्ष और तकलीफ न हो तो क्या “मजा” है जीने में,
बड़े-बड़े “तूफान” रुक जाते है, जब “आग” लगी हो सीने में।

रुठने का क्या फायदा,
जब आपको मनाने वाला,
कोई हैं ही नही।

मौसम की तरह मेरा मूड बदल रहा है,
पता नहीं यह जिंदगी में क्या चल रहा है।

खामोशियाँ वही रही ता-उम्र दरमियाँ,
बस वक़्त के सितम और हसीन होते गए।

अरे ना संघर्ष ना तकलीफ तो क्या मजा है जीने में,
बड़े बड़े तूफान रुक जाते है जब आग लगी हो सीने में।

बस ख़ामोश हूं उदास भी हूं,
और नाराज भी बस ये खामोशी दूर केसे करे,
क्यू की नाराज हूं इसलिए उदास हूं और जिससे,
नाराज हू उसे मेरी खामोशी की अब पर्वा नई।

सबके दिलो में बोछार लाई थी तू,
सबके लबो पर हसी लाई थी तू,
फिर क्यों पल भर की मेहमान बन कर आई तू,
क्यू रुखसत होकर दूर चली गई तू।

हँसकर कबूल क्या कर लीं सजाएँ मैंने,
ज़माने ने दस्तूर ही बना लिया,
हर इलज़ाम मुझ पर लगाने का।

तेरे चोंचले देखकर तंग आ गया हूँ जिंदगी,
या तो यह चोंचले छोड़ दे या फिर हमें छोड़ दे।

Happy Mood Quotes in Hindi

लोग मेरी ख़ामोशी से मेरी उदासी का पता नहीं लगा पाते,
और उम्मीद करते है मुझसे कि बिना कहे ही,
मैं उनकी परेशानियों को समझ लूँ।

कुछ प्यार भरे लफ्जों की तलाश में,
हम रो पडे़ खुद को तसल्ली देते हुए।

अकेला अकेला सा लगता है मुझे भरी मैफिल मै भी,
जैसे सभी ने कान बंद कर लिए हो और मेरी बात सुनने वाला कोई नहीं।

बस ये हुआ कि उस ने तकल्लुफ़ से बात की,
और हम ने रोते रोते दुपट्टे भिगो लिए।

बताओ तो कैसे निकलता है जनाज़ा उनका,
वो लोग जो अन्दर से मर जाते है।

जिंदगी की नज्में ऐसी है,
जिसे ना तो लिखा जा सकता है,
और ना ही बयां किया जा सकता।

कहीं न कहीं रंग बदलते देखे है इंसानों के,
अरे अपना काम निकालने के लिए,
हद से ज्यादा ढंग बदलते देखे है मैंने इंसानों के।

कुछ सितारों की चमक नहीं जाती,
कुछ यादों कि खनक नहीं जाती,
कुछ लोगों से होता है ऐसा रिश्ता,
की दूर रेहके भी उनकी मेहेक नहीं जाती।

एक अजीब सा मंजर नज़र आता है,
हर एक आँसू समंदर नज़र आता हैं,
कहाँ रखु मैं शीशे सा दिल अपना,
हर किसी के हाथ में पत्थर नज़र आता हैं।

रिश्तों का बंधन जेल की जंजीर-सा लग रहा है,
यह दिल हजारों जिम्मेदारियों से जल रहा है।

हर बार इल्जाम हम पर ही लगाना ठीक नहीं,
वफ़ा खुद से नहीं होती और खफा हम पर होते हो।

रिश्ता बनाए रखना हो तो झूठी तारीफों के पुल बांधते जाइए,
और,
खत्म करने के लिए सच्चाई बयां कर दीजिए।

बुला रहा है कौन मुझको उस तरफ,
मेरे लिए भी क्या कोई उदास बेक़रार है।

नहीं करनी अब मोहब्बत किसी से,
एक बार करके ही पछता लिए हम,
उसी ने दे दिए हमें जिंदगी के सारे गम।

इस दौर के लोगो मै वफ़ा ढूंढ रहे हो,
बड़े नादान हो सहाब, जेहेर की शीशी में दवा ढूंढ रहे हो।

जी भर गया है खुद,
पर क्या करें मौत,
ही नहीं आती।

Mood Off Quotes Hindi

वादो से बंधी जंजीर थी जो तोड दी मैँने,
अब से जल्दी सोया करेँगेँ मोहब्बत छोड दी मैँने।

साला ये “मूड” भी ऐसे “ऑफ” होता है,
जैसे बिना “बैटरी” के मोबाइल “स्विचऑफ” होता है।

अफसोस होता हैं उस पल का,
जब अपनी पसंद कोई और चुरा लेता हैं,
ख्वाब हम देखते रहते हैं,
और हकीकत कोई और बना लेता हैं।

दुनिया की सबसे बड़ी जंग,
दिल और दिमाग के बीच चलती है,
और आप यह कभी नहीं जानते कि सुननी किसकी है।

कुछ ऐसी है मेरी हालत कि चीख रहा हूँ पर सुनाई किसी को नहीं देता,
रोता भी हूँ तो आंसू मेरा किसी को दिखाई नही देता।

कभी कभी “अपने” ही अपनो,
का ऐसा तमाशा बनाते हैं कि,
वो अपना कहलाने लायक,
नहीं रहते।

जिसके नसीब मे हों ज़माने की ठोकरें,
उस बदनसीब से ना सहारों की बात कर।

दिल जीतने का “हुनर” हमारे पास नहीं है,
वो बात अलग है कि, यहाँ “दिल” किसके पास है।

जीने का मतलब पहली मुहब्बत में पा लिया,
जिसका भी गम था उसे अपना लिया,
आप रो कर भी गम को हलका न कर सके,
मैंने हसी के आड़ में हर गम को छुपा लिया।

वोह पल कभी भुलाए नहीं जाते,
जिसमे वक्त कम और लम्हे ज्यादा होते है,
वो वहीं पल ज्यादा तकफील देते है।

प्यार मोहब्बत इश्क सब बेकार है,
काट रहे हैं सजा बस मौत का,
इंतजार है।

माना हम “चहरें” के सुंदर नहीं, मगर “दिल” के साफ है,
इसलिए तो हम बहुत “कम” लोगों के खास है।

उनकी नज़रो में फर्क अब भी नही है,
पहले मुड़ के देखते थे और अब देख के मुड़ जाते है।

रिश्तें टूट कर चूर चूर हो गये,
धीरे धीरे वो हमसे दूर हो गये,
हमारी खामोशी हमारे लिये,
गुनाह बन गई,और वो गुनाह,
कर के बेकसूर हो गये।

उठ -उठ के किसी का इंतज़ार कर के देखना,
कभी तुम किसी से प्यार कर के देखना,
कैसे टूट जाते हैं मोहब्बत के रिश्ते,
गलतियां कभी दो -चार कर के देखना।

Sad Mood Quotes in Hindi

मुझसे मौत ने पुछा मै आंऊगीं तो,
कैसे स्वागत करोगे?
कहा मैने फूल बिछा कर पूछूंगा,
इतनी देर कैसे लगी।

दुनिया की बेवफाई से बड़े परेशान हो गए है हम,
इसलिए अब तो बस इंतज़ार है हमें उस वक़्त के आने का,
जब आ जाएगा बुलावा हमारा इस दुनिया को छोड़ जाने का।

अपनी जिंदगी अजीब रंग में गुजरी है,
राज किया दिलों पे और मोहब्बत को तरसे।

ये तो “ज़मीन” की फितरत है की,
वो हर चीज़ को “मिटा” देती है, वरना,
तेरी “याद” में गिरने वाले “आंसुओं” का,
अलग “समंदर” होता।

मेरा मन उदास और व्याकुल है,
पर यह बात किस से कहूं?
क्योंकि अब लोग सुनने में मदद,
नहीं करते और इसका मजाक उड़ाते हैं।

सिर्फ शब्दो से मा करना किसी के वजूद को पहचान,
हर कोई उतना केह् नहीं पाता जितना समझता और मेहसूस करता है।

न वो आ सके न हम कभी जा सके,
न दर्द दिल का किसी को सुना सके,
बस खामोश बैठे है उसकी यादों में,
न उसने याद किया न हम उसे भुला सके।

रिश्ता बनाए रखना हो तो झूठी,
तारीफों के पुल बांधते जाइए,
और,
खत्म करने के लिए सच्चाई बयां,
कर दीजिए।

बहुत प्यार आता था उस पर जब वो रोते हुए कहती थी,
बहुत मारुंगी अगर मुझे छोड़कर गये तो।

कुछ “कदम” हम चले, कुछ “कदम” तुम चले,
फर्क “सिर्फ” इतना रहा, हम चले तो “फासला” घटता गया,
और तुम चले तो “फासला” बढ़ता गया।

ये बेवफाओं की फितरत भी कमाल होती हैं,
दिलों से पत्थर और चहरों से गुलाब होती हैं।

जब तक यह आपके साथ नहीं होता,
तब तक आप नहीं जानते कि,
यह कैसा लगता है।

एक उलझन है मेरी सुलझा दे कोई,
भूला कैसे जाता है बता दे कोई।

अगर उनको हमें धोखा ही देना था,
तो हमारी जिंदगी में आए ही क्यों थे,
इससे अच्छा तो हम अकेले ही जी लेते।

Mood Fresh Quotes in Hindi

अरे ना संघर्ष ना तकलीफ तो क्या मजा है जीने में,
बड़े बड़े तूफान रुक जाते है,
जब आग लगी हो सीने में।

कभी हमसे भी दो पल की,
मुलाकात कर लिया करो,
क्या पता आज हम तरस रहे है कल,
तुम ढूंढते रह जाओ।

कहीं न कहीं रंग बदलते देखे है इंसानों के,
अरे अपना काम निकालने के लिए,
हद से ज्यादा ढंग बदलते देखे है मैंने इंसानों के।

कुछ ऐसे हादसे भी होते हैं ज़िंदगी में ऐ दोस्त,
इंसान बच तो जाता है मगर ज़िंदा नहीं रहता।

अजब चिराग हूँ दिन-रात जलता रहता हूँ,
थक गया हूँ मैं हवा से कहो बुझाए मुझे।

मुझको छोड़ने की बजह तो बता जाते,
तुम मुझसे बेज़ार थे या हम जैसे हज़ार थे।

अब भी ताज़ा हैं जख्म सिने में,
बिन तेरे क्या रखा है जीने में,
हम तो ज़िंदा हैं तेरा साथ पाने को,
वर्ना देर कितनी लगती है ज़हर पीने में।

कभी कभी लोगो की बातों पर इतना,
गुस्सा आता है कि,
दिल करता है सब कुछ छोड़ कर,
एक ऐसी जगह चले जाएं हम,
कोई ना खोज पाए।

मैं जानता हूँ कि तू कभी भी वापस नहीं आएगी,
पर मेरे दिल को यह समझने में पूरी जिंदगी लग जाएगी,
ऐ रबा, मुझे क्यों रुला दिया तूने।

तेरे हिसाब से अब और दिखा न जाएगा,
ज़ख्म अब नासूर बन गए हैं ज़िन्दगी,
मुझसे अब दर्द-ए-दिल और लिखा न जाएगा।

कुछ इस कदर छोड़ा है उसने मुझे कि मैं किसी,
और का भी नहीं और उसका भी नहीं।

जिनकी याद में हम दीवाने हो गए,
वो हम ही से बेगाने हो गए,
शायद उन्हें तलाश है अब नए दोस्त की,
क्यूंकि उनकी नज़र में अब हम पुराने हो गए।

दिल को बुझाने का बहाना कोई दरकार तो था,
दुःख तो ये है तेरे दामन ने हवायें दी हैं।

आज मूड ऑफ है,
दुनिया ब्लैक एंड वाइट लग रही है,
बिना गलती के।

प्यार और विश्वास दो ऐसे पंछी है,
एक उड़ जाए तो दूसरा भी उड़ जाता है।

मुझे मालूम है ऐसा कभी मुमकिन ही नहीं,
फ़िर भी हसरत रहती है कि तुम याद करोगे।

एक अजीब सा मंजर नज़र आता है,
हर एक आँसू समंदर नज़र आता हैं,
कहाँ रखु मैं शीशे सा दिल अपना,
हर किसी के हाथ में पत्थर नज़र आता हैं।

जब अपने ही दगाबाज हो तो गैरों पर हम किस तरह इलज़ाम लगा सकते हैं,
मुश्किल कोई आ जाए तो डरने से क्या होगा,
जनाब कोई तरकीब निकालो,
यूं डर डर के मरने से क्या होगा।

Leave a Comment