150+ Gulzar Quotes | गुलज़ार कोट्स | Gulzar Shayari

Gulzar Quotes in Hindi: दोस्तों आज के इस लेख में हम गुलज़ार कोट्स हिंदी आपके लिए लेके आए हैं। इस तरह की गुलज़ार कोट्स हिंदी आपको और कही नहीं मिलेंगे। उम्मीद करते है की आपको हमारा गुलज़ार कोट्स हिंदी पसंद आएगा।

Gulzar Shayari in Hindi

Gulzar Quotes

कौन कहता हैं की हम झूठ नहीं बोलते,
एक बार खैरियत तो पूछ के देखियें।

ना शिकायत किसी से ना किसी से अनबन है,
बस अब ज़िन्दगी में थोड़ा अकेले चलने का मन है।

कुछ भी कायम नहीं है, कुछ भी नहीं,
और जो कायम है, बस एक मैं हूं,
मैं जो पल-पल बदलता रहता हूं।

किताबें मांगने,
गिरने, उठाने के बहाने,
रिश्ते बनते थे,
उन का क्या होगा।

गुलों को सुनना ज़रा तुम सदाएं भेजीं हैं,
गुलों के हाथ बहुत सी दुआएं भेजीं हैं,
जो आफ़ताब भी ग़ुरूब होता नहीं,
जो सिर्फ दिल है उसी की शोआए भेजीं हैं।

शाम से आँख में नमी सी है,
आज फिर आप की कमी सी है,
दफ़्न कर दो हमें के साँस मिले,
नब्ज़ कुछ देर से थमी सी है।

वो आके पेहलू में ऐसे बैठे, के शाम रंगीन हो गयी है,
ज़रा ज़रा सी खिली तबियत, ज़रा सी ग़मगीन हो गयी है।

Gulzar Quotes in Hindi

आँशु छुपा रहा हु तुमसे की दर्द बताना नहीं आता,
बैठे बैठे भींग जाती है पलके दर्द छुपाना नहीं आता।

तुझ को बेहतर बनाने की कोशिश में,
तुझे ही वक्त नहीं दे पा रहे हम,
माफ करना ए जिंदगी,
तुझे ही नहीं जी पा रहे हम।

आइने के सामने खड़े होकर,
खुद से ही माफी मांग ली मैंने,
सबसे ज्यादा अपना ही दिल दुखाया है,
औरों को खुश करते करते।

जो पसंद था उसे तो अपना नहीं बना पाए,
अब जो अपना बनने वाला है चलो उसे पसंद करते हैं।

सामने आए मेरे, देखा मुझे, बात भी की,
मुस्कुराए भी, पुरानी किसी पहचान की ख़ातिर,
कल का अख़बार था, बस देख लिया, रख भी दिया।

एक कमीज़ अब कितने दिन कोई पहनेगा,
कॉलर मैले,आस्तीन उधड़ी-उधड़ी,
नया कोई मज़हब आये तो कपड़े बदलूँ।

मैं हर रात सारी ख्वाहिशों को खुद से पहले सुला देता,
हूँ मगर रोज़ सुबह ये मुझसे पहले जाग जाती है।

Gulzar Shayari in Hindi 2 Lines

आज अगर भर आयी हैं बूंदें बरस जाएंगी,
कल क्या पता इनके लिए आँखें तरस जाएंगी,
जाने कब गुम हुआ कहाँ खोया,
एक आंसू छुपा के रखा था।

मिलता तो बहुत कुछ है इस ज़िन्दगी में,
​बस हम गिनती उसी की करते है जो हासिल ना हो सका।

सुनो,
जब कभी देख लुं तुमको,
तो मुझे महसूस होता है कि,
दुनिया खूबसूरत है।

जिंदगी के किसी मोड़ पर,
अगर कुछ फैसला करना हो,
तो हमेशा अपने दिल की सुनो,
बेशक वह होता लेफ्ट में है,
मगर उसके फैसले हमेशा राइट होते हैं।

सच बड़ी काबिलियत से,
छुपाने लगे हैं हम,
हाल पूछने पर बढ़िया,
बताने लगे हैं हम।

ल़की़रें है़ तो रह़ने दो,
कि़सी ने़ रू़ठ कर गुस्से़ में शायद़ खींच दी़ थी,
उन्ही को अब बनाओ पाला़, औऱ आ़ओ क़बड्डी खेल़ते हैं।

खुद के बारे में न किसी पीर से पूछो,
न किसी फकीर से पूछो,
कुछ देर आंखें बंद कर अपने जमीर से पूछो।

Gulzar Shayari On Life in Hindi

कुछ अलग करना हो तो भीड़ से हट के चलिए,
भीड़ साहस तो देती हैं मगर पहचान छिन लेती हैं।

कभी तो चौक के देखे कोई हमारी तरफ़,
किसी की आँखों में हमको भी को इंतजार दिखे।

पतझड़ में कुछ पत्तों के गिरने की आहाट,
कानो में एक बार पहन के लौटाई थी,
पतझड़ की वो शाख अभी तक काँप रही,
वो शाख गिरा दो मेरा वो सामान लौटा दो।

मैं चुप कराता हूं हर शब उमड़ती बारिश को,
मगर ये रोज़ गई बात छेड़ देती है।

एक से एक जुदा था राही,
पास थे सारे संग ना कोई,
सब रंगों के देखें चेहरे,
उन आँखों का रंग ना कोई,
जिन बांहों में नींद आ जायें,
ढूँढ रहे थे वो ही बांहें।

ज़ुबान पर ज़ाएका आता था जो सफ़हे पलटने का,
अब उँगली ‘क्लिक’ करने से बस इक,
झपकी गुज़रती है।

अगर मोहब्बत उससे ना मिले,
जिसे आप चाहते हो,
तो मोहब्बत उसको जरूर देना,
जो आपका चाहते हैं।

यूँ भी इक बार तो होता कि समुंदर बहता,
कोई एहसास तो दरिया की अना का होता।

Quotes On Smile in Hindi By Gulzar

जो रिश्ता हमको रुला दे,
उससे गहरा कोई और रिश्ता नहीं,
जो रिश्ता हमको रोते हुए छोड़ दे,
उससे कमज़ोर कोई और रिश्ता नहीं।

वक़्त रहता नहीं कहीं टिक कर,
आदत इस की भी आदमी सी है।

लौटने का ख्याल भी आए,
तो बस चले आना,
इन्तजार आज भी बड़ी,
बेसबरी से है तुम्हारा।

जिनमें जान थी,
उन सब का देहांत हुआ,
जो चीजें बेजान थी,
अब तक जिंदा है।

मैंने दबी आवाज़ में पूछा? मुहब्बत करने लगी हो?
नज़रेंझुकाकरवोबोली! बहुत।

मेरे दिल में एक धड़कन तेरी है,
उस धड़कन की कसम तू ज़िन्दगी मेरी है,
मेरी तो हर सांस में एक सांस तेरी है,
जो कभी सांस रुक जाये तो मौत मेरी है।

जंगल जंगल बात चली है पता चला है,
अरे चड्डी पहन के फूल खिला है फूल खिला है।

Gulzar Motivational Quotes in Hindi

परेशां है इस बात पर वह,
कि उन्हें कोई समझ नहीं पाया,
जरा सोच कर देखो,
तुमने कितनों को समझ लिया।

हाथ छुटे भी तो रिश्ते नहीं नहीं छोड़ा करते,
वक्त की शाख से लम्हें नहीं तोडा करते।

देर से गूंजते हैं सन्नाटे,
जैसे हमको पुकारता है कोई,
कल का हर वाक़िया था तुम्हारा,
आज की दास्ताँ है हमारी।

जिस दिन हम ये समझ जायेंगे कि,
सामने वाला गलत नहीं है,
सिर्फ उसकी सोच हमसे अलग है,
उस दिन जीवन से दुःख समाप्त हो जायेंगे।

अच्छी किताबें और अच्छे लोग तुरंत समझ में नहीं आते हैं,
उन्हें पढना पड़ता हैं।

तन्हाई की दीवारों पर,
घुटन का पर्दा झूल रहा हैं,
बेबसी की छत के नीचे,
कोई किसी को भूल रहा हैं।

शाम से आँख में नमी सी है,
आज फिर आप की कमी सी है,
दफ़्न कर दो हमें के साँस मिले,
नब्ज़ कुछ देर से थमी सी है।

कैसे करें हम ख़ुद को,
तेरे प्यार के काबिल,
जब हम बदलते हैं,
तो तुम शर्ते बदल देते हो।

लाख जमाने भर की डिग्रियाँ हों हमारे पास,
अपनों की तकलीफ़ नही पढ़ पाये तो, अनपढ़ ही है हम।

वो जो है वो बहुत खूब है,
मैं जो हूँ मैं तो कुछ भी नहीं,
उसकी बेरुखी में भी क्या अदा है,
मेरी तो मोहब्बत भी मोहब्बत नहीं।

तकलीफ़ ख़ुद की कम हो गयी,
जब अपनों से उम्मीद कम हो गईं।

आदतन तुमने कर दीए वादे,
आदतन हमने एतबार किया,
तेरी राहों में बारहाँ रुक कर,
हमने अपना ही इंतज़ार किया,
अब ना मांगेंगे ज़िन्दगी या रब,
यह गुनाह हमने जो एक बार किया।

ज्यादा कुछ नहीं बदलता उम्र के साथ,
बस बचपन की जिद्द समझौतों में बदल जाती हैं।

कुछ बात बिगड़ती सी, कुछ बात सुलझती सी,
कुछ अपनी सी, कुछ पराई सी,
जिंदगी है जनाब,
ये हर रोज साज़ बदलती है।

एक सपने के टूटकर चकनाचूर हो जाने के बाद,
दूसरा सपना देखने के हौसले का नाम जिंदगी हैं।

तजुर्बा बता रहा हूँ ऐ दोस्त दर्द,
गम डर जो भी हो बस तेरे अन्दर है,
खुद के बनाए पिंजरे से निकल कर,
तो देख, तू भी एक सिकंदर है।

बातों से सीखा है हम ने,
आदमी को पहचानने का फन,
जो हल्के लोग होते हैं,
हर वक़्त बातें भारी भारी करते हैं।

मिलता तो बहुत कुछ है इस ज़िन्दगी में, ​
बस हम गिनती उसी की करते है जो हासिल ना हो सका।

दिल में कुछ जलता है शायद,
धुआँ धुआँ सा लगता है,
आँख में कुछ चुभता है शायद,
सपना सा कोई सुलगता है।

वो सफर बचपन के अब तक,
याद आते हैं मुझे,
सुबह जाना हो कहीं तो,
रात भर सोते नही थे।

मैं हर रात सारी ख्वाहिशों को खुद से पहले सुला देता,
हूँ मगर रोज़ सुबह ये मुझसे पहले जाग जाती है।

रात की स्याही कोई आए तो मिटाये ना,
आज ना मिटाये तो ये कल भी लौट आएगी,
खाली हाथ शाम आयी है खाली हाथ जाएगी।

मैं दिया हूँ मेरी दुश्मनी तो सिर्फ अँधेरे से हैं,
हवा तो बेवजह ही मेरे खिलाफ हैं।

बोली बता देती है इंसान कैसा है,
बहस बता देती है ज्ञान कैसा है,
घमण्ड बता देता है कितना पैसा है,
संस्कार बता देते है परिवार कैसा है।

जाड़ों की नरम धुप आयी,
आँगन में लेट कर,
आँखों पे खींच कर तेरे,
आँचल के सायें को,
औंधे पड़े रहे तभी,
करवट लिए हुए,
दिल ढूंढता है फिर वही,
फुर्सत के रात दिन।

इन्सान होता है प्यार करने के लिए,
पैसा होता है उपयोग करने के लिए,
पर आजकल लोग प्यार पैसे से करते है,
और उपयोग इन्सान का करते है।

दिल तो रोज़ कहता है,
कि तुम्हे कोई सहारा चाहिए,
फिर दिमाग कहता है,
क्यों तुम्हे धोखा दुबारा चाहिए।

गजब है इश्क़ ऐ दस्तूर,
साथ थे तो एक लफ़्ज़,
ना निकला लवों से मेरे,
दूर क्या हुए कलम ने,
कहर मचा रखा है।

चूम़ लेता़ हूं ह़र मुश्किलों को़ मैं अ़पना माऩक़र,
जिंदगी कै़सी भी है़ आखिऱ है़ तो मे़री।

कभी कभी खुद पर ही इलज़ाम लगाए हैं,
कभी ज़माने भर में तौहीन होती है,
यूँ तो अब तक क़िस्मत में अँधेरे ही रहे,
कोई सवेरा लाएगा तस्कीन होती है।

अगर तुम उस वक्त मुस्कुरा सकते हो,
जब तुम पूरी तरह टूट चुके हो,
तो यकीन कर लो कि दुनिया में तुम्हें,
कभी कोई तोड़ नहीं सकता।

नजर भी ना आऊं,
इतना भी दूर ना करो मुझे,
पूरी तरह बदल जाऊं,
इतना भी मजबूर मत करो मुझे।

गुज़र रहे हैं उम्र के उस पहर से,
ख्वाहिशें जहाँ ज़रा रंगीन होती हैं,
शरारतों के बाद वाला सफर है ये,
जहाँ गलतियां भी संगीन होती हैं।

कुछ अन्य हिंदी कोट्स:

  1. Thought of the Day in Hindi
  2. Mom Quotes in Hindi
  3. Fake People Quotes in Hindi
  4. Safar Quotes in Hindi
  5. Dhoka Quotes in Hindi

उम्मीद करते है की, आपको यह हमारा गुलज़ार कोट्स आपको जरूर पसंद आया होगा। आप हमारा यह लेख अपने मित्रो के साथ साझा कर सकते है।

gulzar shayari in hindi
gulzar quotes in hindi
deep meaning gulzar shayari in hindi 2 lines
gulzar shayari in hindi 2 lines
gulzar shayari on life in hindi
gulzar shayari hindi
gulzar ki shayari in hindi
quotes on smile in hindi by gulzar
gulzar quotes hindi
gulzar motivational quotes in hindi
gulzar love shayari in hindi 2 lines
gulzar poetry on life in hindi

Leave a Comment